Friday, November 27, 2015

उजाड़कर रख देंगे इस बाग को - मुस्लिम धर्मगुरू

(इस वीडियो का लिंक शेयर करने का मकसद आपको जागरूक करना है न कि आपको गुस्सा दिलाना या भड़काना क्योंकि हर मुस्लिम या मुस्लिम धर्मगुरू न ऐसा सोचता है और न ही ऐसे आग उगलता है। इसलिए किसी भी तरह से भड़कने की बजाय सिर्फ ठंडे दिमाग से सोचिए कि हम अपने देश को एक बेहतर देश कैसे बना सकते हैं जिसमें हर कोई सुख और शांति से रह सके और हमारा ये देश दिन दूनी और रात चौगुनी तरक्की करे।)

कोई मुसलमान अमनपसंद नहीं है..  ये मैं नहीं कह रहा हूं  बल्कि ये  दावा तो करीब  एक साल पहले(13/12/2014) मुरादाबाद जिले में खुद एक मुस्लिम  धर्मगुरु..  द्वारा किया जा चुका है। वीडियो का लिंक नीचे दिया जा रहा है। क्लिक करे और खुद देखें सुने। वीडियो में जो कहा गया है उसे मैंने उन लोगों के लिए लिख भी दिया है जिनके पास वीडियो सुनने की सुविधा नहीं होगी। लेकिन दावा करने वाले शख्स  के यक़ीन, नफरत भरे तेवर व जोश का अंदाजा लगाने के लिए वीडियो को देखना ही नहीं बल्कि सुनना भी जरूर चाहिए। वीडियो में जो बातें कही गई हैं वो धर्मांतरण के चलते कही गई हैं। एक बार फिर से याद दिला दूं कि वीडियो का लिंक शेयर करने का उद्देश्य आपको भड़काना हरगिज नही है। हां..ठहाका लगाने की पूरी छूट है।
वीडियो का लिंक ये है..


वीडियो में जो कुछ कहा गया है वो इस प्रकार है..

सुन लो कान खोल के..कान खोल के सुन लो.. तारीखों की एजेंसिया..और तमाम वो लोग जिनके हाथों में शकीन है...कसम उस पूरा रमीन की... हमारे हाथ में भी हर हथि..हथियार आ सकता है,  अगर हम चाहे तो..हर हथियार आ सकता है...हर हथियार आ सकता है ...उजाड़ कर रख देंगे इस बाग को.. खत्म कर देंगे इस ???? तमाम को.. कैसा पार्लियामंट..कैसी असेंबली..मिस्टर..मिस्टर यादव..मिस्टर..मुलायम सिंह यादव...और मिस्टर अखिलेश सिंह यादव सिंह सुन लो कान खोल के.. अगर तुमने जल्द से जल्द इस पर पाबंदी नहीं लगाई तो भी असेंबली के अंदर घुस जाएंगे और तुम्हारी सारी कुर्सी मेजे तोड़ कर फेंक  देंगे.. अपना कानून चलाएंगे..और मोदी जी सुन लो इस बात को कि जिस दिन ये काफिला.. मुजाहिद्दीन का..दिल्ली चला गया उस दिन पालिर्यामंट साबुत नहीं रहेगा..कोई कुर्सी साबुत नहीं रहेगी..कोई वहां का एमपी-एमएलए साबुत नहीं बचेगा..कत्लोगारदगरी हो जाएगी..बच नहीं सकता किसी कीमत पर भी इस हिंदुस्तान का नक्शा..हजारो टुकड़े हो जाएंगे इस देश के..कैसी सलामती..कोई मुसलमान अमनपसंद नहीं चाहता यहां पे..हम कोई अमनपसंद नहीं हैं..हम इस्लाम के सच्चे मुजाहिद हैं। मुजाहिद रहेंगे और मुजाहिद मरेंगे।

(जो कुछ कहा गया है उसे ज्यों का त्यों रखने की भरसक कोशिश की गई है। फिर भी किसी भी तरह के भ्रम से बचने के लिए खबर से संबंधित वीडियो देखें।)


नीचे दिए लिंक पर कथित मुस्लिम धर्मगुरु के इस भड़काऊ भाषण से संबंधित खबर पढ़ सकते हैं। 



इस भड़काऊ भाषण के संबंध में कुछ खास बातें..
    
    1- ये भाषण करीब 1500 लोगों की भीड़ में दिया गया।
    2- भाषण देने वाले  कथित धर्मगुरु के यक़ीन, नफरत भरे तेवर और जोश गौर करने लायक हैं।
    3- भाषण की वजह धर्मांतरण है।
    4- भाषण देने वाले धर्मगुरु के खिलाफ कोई कार्रवाई करने की कोई सूचना  संज्ञान में नहीं है।
    5- भाषण में आग उगलने वाले इस शख्स पर कोई बड़ा ऐतराज सामने नहीं आया है।
    6- गौर करने वाली बात ये है कि मामले से संबंधित पूरा वीडियो उपलब्ध नहीं है। इसलिए और
      क्या कहा गया था उसका सिर्फ अनुमान ही लगाया जा सकता है।
    7- 1500 लोगों की भीड़ में भाषण के वक्त प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे।
    8- मुरादाबाद जिले में बाबरी मस्जिद ऐक्शन कमिटी के कार्यक्रम में ये भाषण दिया गया था।
    9- भाषण के वक्त शहर इमाम और बाबरी मस्जिद ऐक्शन कमिटी के अध्यक्ष भी मौजूद थे।


इस वीडियो का लिंक शेयर करने का मक्सद सिर्फ इतना है कि हर भारतवासी को हर समय सावधान व सचेत रहने की आवश्यकता है न कि भड़कने या भड़काने की। छोटी-2 बातों पर आपको गलत रास्ते पर धकेलने वाले लोग कदम-2 पर मिल जाएंगे लेकिन आपको सावधान रहने की जरूरत है। वहीं देश व राज्य सरकारों को भड़काऊ भाषण देने वाले ऐसे हर शख्स पर कड़ी कार्रवाई करने की आवश्यकता है ताकि दूसरा कोई भी ऐसी बातें करने की हिम्मत न कर सके।