Tuesday, September 13, 2011

चलो हिन्दी अपनाएँ!

राजभाषा कहो..
जनभाषा कहो..
या फिर कहो..
मातृभाषा!
सदियों से... 
हिन्दी
रही है ..
आमजन की भाषा!
देश की सबसे बड़ी..
सरल-सुबोध..
सम्पर्कभाषा!
हिन्दी से ही अपनी...
पहचान है!
शान है!
हिंदीबोलने,सीखने में भी
बेहद आसान है!
इसकी..
उपेक्षा करने वाले..
निर्लज्ज और नादान हैं!
भाषाएँ तो और भी हैं....
लेकिन केवल हिन्दी...
हमारी जान है!
सब हिन्दुस्तानी 

हिन्दी अपनाएँ... 
और हिन्दी के साथ-२ ...
अपना भी मान बढ़ाएँ...
हिन्दी दिवस पर...
बस ये ही...
मेरा  पैगाम है!


इस नारे के साथ कि......चलो हिन्दी अपनाएँ!
आप सभी को हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएँ!