Thursday, September 8, 2011

सत्तासीनों की नीयत में खोट!

ख़ूनी होली खेल रहे हैं  आतंकी बार-बार............!
दिल्ली हो या मुंबई,   हर जगह करते वार.........!
हर जगह करते वार,  जनता रोष जताए............!
सो रहे हैं सत्तासीन,   कोई तो इन्हें जगाए..........!
'खरीखरी'  आतंकी जब चाहें कर देते विस्फोट...! 
कारण बस इतना सत्तासीनों की नीयत में खोट...! 

7 comments:

  1. सार्थक बात कही आपनें, नीयत में है खोट

    ReplyDelete
  2. सत्तासीनों की नीयत में खोट
    एकदम सही कहा आपने.

    ReplyDelete
  3. न जाने कब तक ये सब चलता रहेगा ... इनकी नीयत में खोट तो है ही ....

    ReplyDelete
  4. कितनी मेहनत से अपनी जान पर खेल कर हमारे वीर जवान इन आतंकियों को पकड़ते है
    नेता इनको जेल में रख कर बाहर इन पर राजनीती करते है
    क्या ये देश के सैनिको और नागरिको के भद्दा मजाक नही है

    ReplyDelete
  5. बहुत सार्थक रचना| धन्यवाद|

    ReplyDelete
  6. जनता की जान जा रही है, किन्तु उनकी नींद में खलल नहीं आ रही है।

    ReplyDelete
  7. इन्हें जनता से मतलब ही नहीं है वोट से है...

    ReplyDelete