Saturday, June 5, 2010

पर्यावरण दिवस पर (५ जून) ख़ास पेशकश......















'वृक्षारोपण' कर, करो धरा का श्रृंगार....

'पर्यावरण हितेषी' बन, कर दो उपकार ....
ग़र आज से ही बन जाओ 'प्रकृति प्रेमी'....
तभी रहेगा रहने लायक़ अपना ये 'संसार'।




4 comments:

  1. हर शब्‍द में गहराई, बहुत ही बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

    ReplyDelete
  2. मेरी हौसला अफज़ाई के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया.
    आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार ! इसी तरह समय समय पर हौसला अफज़ाई करते रहें ! धन्यवाद !

    ReplyDelete