Wednesday, May 12, 2010

वरना तुमसे मोहब्बत न करते

यूँ  भटकना मेरी ज़िन्दगी का मकसद  न था,

बस किस्मत में लिखा था वरना तुमसे मोहब्बत न करते।

1 comment: