Wednesday, May 12, 2010

जिंदा हैं सिर्फ तेरे लिए

एक तुम्हारे सिवा इस दुनिया में क्या रखा है।
कुछ यादें हैं जिन्हें सीने में दबा रखा है।
हम तो कब का छोड़ जाते इस जहां को,
बस तुमसे मिलने की आस ने जिंदा रखा है।

1 comment:

  1. hmm....
    sirf tumse milne ki aas ne zinda rakha hai...
    bahut khub...
    thankx for visiting and commenting on my blog.......

    ReplyDelete